सर्व दलीय पार्षद पूर्व पार्षद संघर्ष समिति नगरनिगम प़़यागराज की नागरिकों से अपील की है कि बढ़ा हुआ वाटर टैक्स जमा न करें

Spread the love

प्रयागराज :

आज दिनांक 30-06-2021 को सर्वदलीय पार्षद पूर्व पार्षद संघर्ष समिति नगरनिगम प़़यागराज के
पूर्व वरिष्ठ पार्षद शिवसेवक सिंह , वरिष्ठ पार्षद कमलेश सिंह आनंद घिल्डियाल अशोक सिंह , अल्पनानिषाद , रंजन कुमार , सुशील कुमार चंद्र प्रकाश गंगा आदि ने बैठक करके नागरिकों से अपील की है कि बढ़ा हुआ वाटर टैक्स जमा न करें क्योंकि वित्तीय वर्ष 2021-2022 का वाटर टैक्स निर्धारण हेतु नया स्लैब रेट निर्धारण प़करण लम्बित है , जब तक नगर निगम सदन द्वारा नया स्लैब रेट का निर्धारण नहीं हो जाता है तब तक जलकल विभाग नगर निगम द्वारा कोरोना काल में जबरन बढ़ा हुआ वाटर टैक्स जमा कराना नियम विरुद्ध है ।

पार्षदों एवं पूर्व पार्षदों ने जलकल विभाग नगर निगम प्रशासन से मांग किया है कि अतिशीघ्र नगरनिगम सदन की बैठक बुलाकर वाटर टैक्स निर्धारण हेतु लम्बित स्लैब रेट प़करण का नया स्लैब रेट नया गृह मूल्यांकन 2014 के अनुसार नया स्लैब रेट बनाने काम शीघ्र करने का कष्ट करें ।


पूर्व वरिष्ठ पार्षद शिवसेवक सिंह ने कहा कि जलकल विभाग नगर निगम में भ़ष्टाचार चरम पर है , भ़ष्टाचार के लिए 1994 के पहले का बना पुराने स्लैब रेट को आधार बनाकर नया मूल्यांकन 2014 के अनुसार वाटर टैक्स में वृद्धि करके वसूली जबरन नियम विरुद्ध की जा रही है । जबकि नियम के अनुसार लागू नये गृह मूल्यांकन 2014 के अनुसार नया स्लैब रेट बनाने के बाद ही वाटर टैक्स का निर्धारण हो सकता है ।


जलकल विभाग नगर निगम प़़यागराज में बड़े खर्चे कम हूए हैं , अब केवल मेंटेनेंस खर्च बचा है ‌, बड़ा खर्चा कर्मचारियों का वेतन राज्य वित्त आयोग से प्राप्त धनराशि में से नगरनिगम द्वारा दिया जाता है , बड़े व छोटे नलकूप नया लगाने के लिए सरकार द्वारा अनुदान धनराशि प्राप्त हो रही है ।अटल ‌अमृत योजना एवं
15 वां वित्त आयोग से पेयजल आपूर्ति हेतु पाइप लाइन , सीवर लाइन डालने आदि के कार्य हेतु धनराशि प्राप्त हो रही है , फिर भी वाटर टैक्स में मनमाना वाटर टैक्स में वृद्धि कोरोना संकट काल में नियम के विरुद्ध करना भ़ष्टाचार का प्रतीक है ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top