अटल पेंशन योजना | Atal Pension Yojna

अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna)

इसे भी पढ़े : Update Aadhaar Address

देश के नागरिकों एवं विशेष तौर पर ऐसे लोग जो मुख्यधारा से वंचित हैं और जिनका जीवन भविष्य की आधारभूत जरूरतों की असंभावनाओं से घिरा है,के लिए सरकारें योजनाओं के माध्यम से स्थिरता लाने का प्रयास करती हैं। चाहे वह केंद्र की सरकार हो या राज्य सरकारें आम जनमानस के सहयोग हेतु योजनाएं बनाती हैं ,ऐसी ही एक केंद्र सरकार की अति महत्वाकांक्षी योजना है ‘अटल पेंशन योजना’ आइए इसके बारे में जानते हैं:

इसे भी पढ़े : RTI कैसे लगाए

अटल पेंशन योजना

योजना का नामअटल पेंशन योजना
लॉन्च की गयीवर्ष 2015
प्राम्भकेंद्र सरकार द्वारा
लाभार्थीदेश के असंगठित क्षेत्रो के लोग
उद्देश्यपेंशन प्रदान करना

इसे भी पढ़े :YONO SBI कैसे यूज़ करें

 क्या है अटल पेंशन योजना(Atal Pension Yojna) ?

इसे भी पढ़े : जन्‍म प्रमाण पत्र Online

अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojna) असंगठित क्षेत्र विशेष तौर पर श्रमिक वर्ग पर केंद्रित योजना है। भारत मैं ऐसी बहुत बड़ी आबादी है जिसकी आर्थिक अस्थिरता बढ़ती उम्र के साथ बढ़ जाती है,ऐसे लोगों को प्रतिमाह कुछ धनराशि पेंशन के रूप में देने की योजना की शुरुआत  वर्ष 2015 में  9 मई को  अटल पेंशन योजना के रूप में केंद्र सरकार द्वारा की गई इसमे लाभार्थी तो अपना योगदान करता ही है साथ में केंद्र सरकार भी  लाभार्थी के योगदान का 50% या ₹1000 का एक अधिकतम अंशदान प्रतिवर्ष जमा  करती है। इस योजना के तहत लाभार्थी के 60 साल की उम्र से 1000 या 2000 या 3000 या 4000 या ₹5000  प्रतिमाह की न्यूनतम गारंटीड पेंशन लाभार्थी द्वारा योगदान के अनुसार दी जाएगी

इसे भी पढ़े : किसान क्रेडिट कार्ड

अटल पेंशन योजना योजना में लाभार्थी बनने की पात्रता |Eligibility to become a beneficiary under the Atal Pension Yojana Scheme

इसे भी पढ़े : प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

  • लाभार्थी की आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बीच होनी चाहिए ।
  • लाभार्थी का बचत खाता बैंक या डाकघर में होना चाहिए ,खाता ना होने की दशा में नया खाता खुलवाया जा सकता है ।
  • लाभार्थी का भारतीय नागरिक होना आवश्यक है।
  • एक लाभार्थी सिर्फ एक ही एपीवाई खाता खोल सकता है।

इसे भी पढ़े : UP भूलेख ऑनलाइन खसरा खतौनी नकल जमाबंदी

पेंशन की आवश्यकता क्यों ?

इसे भी पढ़े :  mKisan Portal

  • आय ना होने की दशा में पेंशन एक मासिक आय एवं स्थिरता प्रदान करता है।
  • उम्र बढ़ने के साथ-साथ आय में कमी को पूरा करने का प्रयास होता है।
  • बुढ़ापे में जीवन जीने में आर्थिक रूप से सुगमता प्रदान करता है।
  • भविष्य की मूलभूत जरूरतों की अस्थिरता को कम करता है।

इसे भी पढ़े :  Farmers Portal

अटल पेंशन योजना के लाभ

इसे भी पढ़े : प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना

यह अधिक विश्वसनीय है क्योंकि केंद्र सरकार का इस पर आश्वासन है।

इस पेंशन योजना में सरकार द्वारा भी अंशदान किया जाता है।

लाभार्थी की मृत्यु की दशा में नॉमिनी (Nominee) को भी लाभ प्रदान किया जाएगा।

इसे भी पढ़े : हैसियत प्रमाण पत्र

अटल पेंशन योजना में खाता खोलने की प्रक्रिया

इसे भी पढ़े : EWS Certificate

  • जहां लाभार्थी का खाता हो बैंक या डाकघर से संपर्क करें।
  • अपने बचत खाते की डिटेल के साथ एपीवाई योजना (APY Form) का फार्म भरें।
  • मोबाइल नंबर व आधार उपलब्ध कराएं। (यह अनिवार्य नहीं है लेकिन सूचनाओं के आदान-प्रदान में सुगमता होगी) I
  • मासिक या त्रैमासिक या छमाही योगदान के ट्रांसफर हेतु राशि तय करें व  तय राशि की उपलब्धता खाते में सुनिश्चित करें।
  • योजना में नॉमिनी का विवरण दें,नॉमिनी का विवरण देना आवश्यक है। लाभार्थी के विवाहित होने की दशा में पति या पत्नी ही नामिनी होंगे।

इसे भी पढ़े : जेल Online eMulakat pass

 योजना में योगदान का तरीका

इसे भी पढ़े : UP में शिकायत के लिये Dial 1076

अपने खाते से तय समयावधि के अंतराल पर मासिक ,त्रैमासिक या छमाही मे ऑटो डेबिट (Auto Debit) के माध्यम से योगदान किया जा सकता है।

योगदान की राशि लाभार्थी की वांछित मासिक पेंशन और वर्तमान आयु पर भी निर्भर करती है।

योगदान  मासिक, त्रैमासिक अथवा छमाही के अंतराल पर कोई भी तारीख पर ट्रांसफर की जा सकती हैं।

इसे भी पढ़े : बनवाएं खराब सड़कें गांव की 

अटल पेंशन योजना से निकासी की प्रक्रिया

इसे भी पढ़े : AAROGYA SETU APP

60 वर्ष की आयु के पूर्ण होने पर लाभार्थी स्वतः ही मासिक पेंशन के पात्र होंगे।

लाभार्थी की मृत्यु की दशा में वही पेंशन पति या पत्नी को  प्राप्त होगी। दोनों की मृत्यु (पति और पत्नी की) दशा में 60 साल तक जो संचित धन (पेंशन हेतु) है वह नॉमिनी या उत्तराधिकारी को मिलेगा।

इसे भी पढ़े : UP Online-FIR

60 वर्ष से पूर्व पेंशन योजना  छोड़ना

इसे भी पढ़े : समान नागरिक संहिता | Uniform Civil Code

यदि लाभार्थी 60 वर्ष पूर्व ही पेंशन योजना से निकलना चाहता है तो खाते में उसके द्वारा जमा किया गया पैसा और उस पर ब्याज आदि सहित मेंटेनेंस चार्ज काटकर उसे वापस कर दिया जाएगा। लेकिन सरकार के अंशदान व उस पर ब्याज आदि का कोई लाभ उसे नहीं मिलेगा।

इसे भी पढ़े : गन्ना पर्ची केलिन्डर कैसे देखे ?

60 वर्ष के पूर्व ही लाभार्थी की मृत्यु

इसे भी पढ़े : किसानों के लिए कृषि सब्सिडी योजनाएँ 

ऐसी दशा में  मूल लाभार्थी के 60 वर्ष पूर्ण होने तक निश्चित योगदान जारी रखने का विकल्प पति या पत्नी के पास होता है। 60 वर्ष पूर्ण होने के पश्चात पेंशन की वहीं धनराशि नामित प्राप्त करेगा जो पहले से तय की जा चुकी है। अथवा यदि लाभार्थी का नॉमिनी योजना को जारी नहीं रखना चाहता तो ऐसी दशा में लाभार्थी द्वारा अब तक किया गया संपूर्ण योगदान पति या पत्नी या नामिनी को मिल जाएगा ।

अटल पेंशन योजना योजना अंशदान चार्ट (Contirbution Chart)

इसे भी पढ़े : NPR और NRC क्या है

Age of entryYears of contributionFirst Monthly pension of Rs.1000/-Second Monthly pension of Rs.2000/-Third Monthly pension of Rs.3000/-Fourth Monthly pension of Rs.4000/-Fifth Monthly pension of Rs.5000/-
18424284126168210
19414692138183224
204050100150198248
213954108162215269
223859117177234292
233764127192254318
243670139208277346
253576151226301376
263482164246327409
273390178268356446
283297194292388485
2931106212318423529
3030116231347462577
3129126252379504630
3228138276414551689
3327151302453602752
3426165330495659824
3525181362543722902
3624198396594792990
37232184366548701087
38222404807209571196
392126452879210541318
402029158287311641454

Ashutosh Tiwari

Leave a Reply